Most Urgent....... Socio Economic Form Filling.... कृपया जल्द से जल्द सभी परीवारोकी सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण जानकारी दे...





कार्यकर्त्ता प्रशिक्षण शिबिर, दांडेली

दांडेली के पास , भगवान श्री रामचंद्रजी की लीलास्थली दंडकारण्य की  प्राकृतिक सौंदर्य से लहलहाति हुई तपोभूमि में काली नदी के रमणीय तट पर आनंदमय वातावरण में आयोजित किया गया। अखिल भारतीय महासभा के दक्षिणांचल के संयुक्त सचिव श्री सतीशजी चरखा तथा बाल संस्कार एवं संस्कृति संवर्धन समिति के राष्टी्य संयोजक श्री अनिलजी राठी (अमरावती) ने पूरे दो दिनों तक , विभिन्न विषयों , जैसे कि ,प्रशंसा द्वारा सम्मानित करने की कला, मंच से प्रभावी भाषण एवं विषयों को प्रस्तुत करने की कला, प्रसंगानुसार अपनी आवाज में उतार और चढाव के माध्यम से विषयों की प्रभावी ढंग से प्रस्तुती, सकारात्मक सोच के साथ संगठन में काम करने की कला, संघठन की संघठनात्मक रचना,विधान का संघठन में महत्व, इत्यादि बहुत ही गहरे विषयों पर पावर पाइंट के माध्यम से ,विस्तार पूर्वक विषयों का विश्लेशण करते हुये,बहुत ही प्रभावी ढंग से प्रशिक्षक की भूमिका निभायी।

        कुल मिलाकर ७५ पुरुषों ने, १२ महिलाओं ने तथा युवा साथियों ने प्रशिक्षणार्थियों के रुप में दूर दूर से पधार कर इस कार्यक्रम में भाग लिया।सभी ने हिलमिल कर एक एक मिनिट का भी समय व्यर्थ नही होने दिया।प्रात: छ: बजे से योगासन अभ्यास लेकर ,नदी में बोटिंग का आनंद भी लेकर , कार्यकर्ता के कर्तत्वपन का प्रशिक्षण लेते हुये,सायं विभिन्न खेल कूद के माध्यम से प्रशिक्षण की शिक्षा एवं देर रात तक टाक् शो मे भी बहुत ही महत्वपूर्ण चर्चा मे भाग लेते हुये,सभी प्रशिक्षणार्थियों ने अपने आप में एक नयी उमंग एवं एक विशेष आनंद के संचार का अनुभव प्राप्त किया। समयानुकूल विशेष राजस्थानी स्वादिष्ट व्यंजनो के आनंद की अनुभूति से भी सभी भाव विभोर हो गये। सभी कार्यकर्ताओं ने अपने आपको इस सुनहरे अवसर के लिये भाग्यशाली माना।इस तरह हमारे पूरे प्रदेश सभा में एक नयी उर्जा का संचार हुआ।

                समिति संयोजक श्री नवलकिशोरजी मालू,सिरिशजी मालू, नवरतनजी जाजू, हुबली से श्री बादलजी बाहेती, श्री ब्रजमोहनजी भूतडा के अथक परिश्रम ने इस कार्यक्रम को प्रदेश के इतिहास में स्वर्णांकित करने योग्य बनाया।